Saturday, August 1, 2009

कार्टून : धडाधड सच ... वो भी फोकट में !!!

बामुलाहिजा
Cartoon by Kirtish Bhatt

8 comments:

संजय बेंगाणी said...

फर्क इतना है, एक दुसरे का सच उगल रहे हैं... :) नेता हो कर भी, बिना पैसे लिए काम कर रहे हैं... :)

ज्ञानदत्त पाण्डेय | Gyandutt Pandey said...

हम भी कुछ गढ़ें सच। पैसे मिलेंगे?!:)

अरुण पालीवाल said...

वाह वाह ! क्या बात है !क्या सच है !

Shiv Kumar Mishra said...

अपने नेता पैसे के लालची नहीं होते जी. पैसे की लालची तो जनता है जो जो सच बोलेगी तो पैसा लेकर.

Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

भई ये दूसरे का सच है,अब अपना सच कहें तो कुछ बात भी बने:)

AlbelaKhatri.com said...

anand aaya.......ha ha ha ha

Anil Pusadkar said...

सच तो हम भी बोल रहे हैं मगर मिल कुछ नही रहा।

समयचक्र : महेन्द्र मिश्र said...

क्या बात है...