Friday, December 4, 2009

कार्टून : ये ल्लो !! चिंता करने जैसी तो कोई बात ही नहीं है जी !!



Bamulahija >> Cartoon by Kirtish Bhatt

5 comments:

पी.सी.गोदियाल said...

Sahee hai :)

संजय बेंगाणी said...

जब सब कुछ ठीक ठाक है तो फिक्र किस बात की? :)

Bhavesh (भावेश ) said...

बहुत खूब. वैसे भी बात "हाथ नहीं लगने" की हुई है. अंगुली, हथेली, सिर, पाँव आदि तो लग ही सकते है.

ज्ञानदत्त G.D. Pandey said...

बेचारा पाकिस्तान! :(

अनिल कान्त : said...

अब ऐसे में फिक्र करने की ज़रूरत ही क्या है :)