Wednesday, January 30, 2013

He is threatening

delhi gang rape, crime, indian political cartoon, justice, law, daily Humor
























Cartoon by Kirtish Bhatt (www.bamulahija.com)

7 comments:

प्रवीण पाण्डेय said...

सबसे घातक तो यही है..

रविकर said...

लाठी हत्या कर चुकी, चुकी छुरे की धार |
कट्टा-पिस्टल गन धरो, बम भी हैं बेकार |
बम भी हैं बेकार, नया एक अस्त्र जोड़िये |
सरेआम कर क़त्ल, देह निर्वस्त्र छोड़िए |
नाबालिग ले ढूँढ़, होय बढ़िया कद-काठी |
मरवा दे कुल साँप, नहीं टूटेगी लाठी ||

रविकर said...

आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति का लिंक लिंक-लिक्खाड़ पर है ।।

Virendra Kumar Sharma said...

समसामयिक कानूनी विवशता पर बेहतरीन तंज .बचके रहना अपने घर में मैं अभी 18 का नहीं हुआ हूँ .

Virendra Kumar Sharma said...

समसामयिक कानूनी विवशता पर बेहतरीन तंज .बचके रहना अपने घर में मैं अभी 18 का नहीं हुआ हूँ .

Virendra Kumar Sharma said...

समसामयिक कानूनी विवशता पर बेहतरीन तंज .बचके रहना अपने घर में मैं अभी 18 का नहीं हुआ हूँ .

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

सही काम कर रहा है.