Thursday, August 11, 2011

कार्टून: शुक्र है देश की इज्जत बच गई...वरना..


Cartoon by Kirtish Bhatt (www.bamulahija.com)

4 comments:

प्रतुल वशिष्ठ said...

कीर्तीश जी,
आपके इतने तीखे व्यंग्य-चित्र होते हैं कि किसी क्रांतिकारी लेख से कमतर नहीं लगते..
जबकि आज मीडिया अपने वास्तविक धर्म से च्युत हो रहा है .. वहीं आपने अपनी नौका सही दिशा में ले चलने का संकल्प लिया हुआ है... महीनों से देख रहा हूँ आपकी कूची से निकलने वाली रेखाओं को... आपके ये छोटे-छोटे प्रयास एक बड़ी क्रान्ति का सृजन कर रहे हैं. मैं आपके कार्टून्स को बहुत पसंद करता हूँ ... क्योंकि आप कटु सत्य को बेबाक रूप से रखते हैं. चंद लकीरों और संक्षित संवादों से व्यवस्था पर बड़ी तगड़ी चोट करते हैं आपके कार्टून्स.

पत्रकार-अख्तर खान "अकेला" said...

kyaa gazab hai bhaai ..akhtar khan akela kota rasjsthan

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

gajab ka teekha hai...

प्रवीण पाण्डेय said...

प्रतिभावान खायक हैं, कुछ भी खा सकते हैं।