Thursday, November 8, 2012

लोकपाल की जरूरत ही क्या है ?!

lokpal cartoon, janlokpal bill cartoon, bjp cartoon, congress cartoon, corruption cartoon, corruption in india, indian political cartoon
























Cartoon by Kirtish Bhatt (www.bamulahija.com)

4 comments:

रविकर said...

चिरकुट चच्चा चाहते, चमकाना व्यवसाय ।

क्लीन-चिटो की फैक्टरी, देते यहाँ लगाय ।

देते यहाँ लगाय, खरीदो बेहद सस्ती ।

खोली एक दुकान, जाय के उनकी बस्ती ।

ख़तम चोर माफिया, हुआ व्यापारी सच्चा ।

लीडर बनता जाय, हमारा चिरकुट चच्चा ।।

रविकर said...

उत्कृष्ट प्रस्तुति शुक्रवार के चर्चा मंच पर ।।

प्रवीण पाण्डेय said...

सरल तन्त्र विकसित हो रहे हैं।

Neetu Singhal said...

विद्यमान परिस्थिति में राष्ट्रपति, प्रधान मंत्री से लेकर भृत, दैनिक वेतन भोगी तक
सभी स्वयं के सदाचारी होने का दंभ भरते है, इसका आशय तो ये हुवा की भारत में
भ्रष्टाचार है ही नहीं । अब इसे राष्ट्र प्रमुख या तो सार्वजनिक रूप से स्वीकार करे
( कि भारत भ्रष्टाचार मुक्त है ) अथवा आत्म समर्पण करें.....