page contents

Tuesday, January 29, 2013

इस लिटरेचर से मेरी टांग आहत हुई है

daily Humor, humor fun, jaipur literature festival, literature festival, literature























Cartoon by Kirtish Bhatt (www.bamulahija.com)

3 comments:

प्रवीण पाण्डेय said...

पता नहीं भारी शब्द कब और कहाँ गिर जाते हैं।

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

शानदार.बचा के रखना चाहिये थी.

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

शानदार.बचा के रखना चाहिये थी.